Friday, October 14, 2011

मेरी पहली पुस्तक - 'कभी सोचा है' - काव्य संग्रह तथा 'नई दुनिया' समाचार-पत्र में प्रकाशित उसकी समीक्षा.


पुस्तक - 'कभी सोचा है'


समीक्षा - 'धरती की तरह हैं कविताएँ'

20 comments:

  1. बहुत बढ़िया |
    बधाई ||
    http://dineshkidillagi.blogspot.com/

    ReplyDelete
  2. हार्दिक बधाई और शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  3. काव्य- रचना की पुस्तक के लिए बहुत-बहुत बधाई.

    ReplyDelete
  4. बधाई हो आपको आपकी किताब के लिए।
    क्‍या इसकी प्रति मिल सकती है, यदि हां तो क्‍या करना होगा, बताएं।
    aattuullss@gmail.com

    http://atulshrivastavaa.blogspot.com/

    ReplyDelete
  5. आदरणीया प्रज्ञा जी,
    आपको ढेरों मुबारकबाद.
    रचनाकार के लिए खुद की किताब एक बच्चे जैसी होती है.
    कितनी पीड़ायों के बाद,कितने झमेलों के बाद एक किताब का जन्म होता है.
    आप के चेहरे की मुस्कराहट एक माँ जैसी है.
    बहुत खुश हूँ जानकर.
    इस बच्चे की किलकारी मैं भी सुनना चाहूंगा.
    देखना चाहूंगा कहाँ फूल खिले हैं और कहाँ रेगिस्तान विछा है.
    बताईयेगा कैसे मिल सकती है.

    ReplyDelete
  6. @क्षमा जी, रवि जी, वंदना जी, अमृता जी, संजय जी, अतुल जी, 'स्मार्ट इंडियन', शकुंतला जी, विशाल जी>>> शुभकामनाओं के लिए बहुत-बहुत शुक़्रिया...

    ReplyDelete
  7. @विशाल जी>>>आपकी टिप्पणियों की तो क़ायल हूँ:)....पुस्तक आपलोगों तक पहुँचाने की कोशिश कर रही हूँ, ज़रा सी आउट ऑफ स्टॉक हो गई है...पर जल्द ही आ जाएगी पुन: स्टॉक में:)

    ReplyDelete
  8. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.
    दीपावली के शुभ पर्व पर मेरी तरफ से ...आपको और आपके परिवार को हार्दिक, ढेरों शुभ कामनाएँ

    ReplyDelete
  9. पुस्तक के लिए बहुत-बहुत बधाई

    ReplyDelete
  10. दी
    देर से पता चला. एक अजीब सी खुशी फ़ील कर रहा हुं. वैसे आपको बहुत-बहुत बधाई. अब तो मै जल्द से जल्द इसे पढना चाहता हुं. आप क्रिप्या प्रकाशन का नाम बतायें.

    ReplyDelete
  11. मदन जी> आपको भी दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ..

    ReplyDelete
  12. @संजय जी> बहुत-बहुत शुक्रिया..

    ReplyDelete
  13. @शशि> बहुत शुक्रिया...प्रकाशन का नाम 'प्रतिमा प्रकाशन' है...उम्मीद है आपलोगों को पुस्तक पसंद आएगी...

    ReplyDelete
  14. a lot of congrats pragya ji...for ur 1st kaavya sangrah.....God bless u:)

    ReplyDelete
  15. सत्यम जी> बहुत-बहुत शुक़्रिया..

    ReplyDelete
  16. मेरी पुस्तक 'गौरव बुक सेंटर, दरियागंज' पर उपलब्ध है...यदि आपमें से कोई इसे खरीदना चाहे तो कृपया गौरव बुक सेंटर से संपर्क करें...आप प्रतिमा प्रकाशन से भी यह पुस्तक मंग़वा सकते हैं जिनका मोबाईल नंबर है - 09350887815...बहुत-बहुत धन्यवाद..

    ReplyDelete